Silsila badalte rishton ka

Spread the love

Silsila badalte rishton ka

 

 

दोस्तो Silsila badalte rishton ka सिलसिला बदलते रिश्तों का ये  एक भारतीय हिंदी धारावाहिक है। जो की हिंदी टेलीविजन चैनल Colors Tv पर इसका पहला Silsila badalta rishton ka session 1, 4 जून 2018 से शुरू हुआ था और इसका निर्माण स्फेयर ओरिंजिस के बैनर तले, सुजोय वाधवा ने किया था।

Silsila badalta rishton ka session 2

 

Silsila badalte rishton ka cast इस सीरियल के मुख्य किरदार हैं-

1.दृष्टि धामी Drashti Dhami

Drishti Dhami Silsila badalta rishton ka

2.अदिति शर्मा Aditi Sharma

aditi sharma Silsila badalta rishton ka

3.शक्ति अरोड़ा Shakti Arora

Shakti Arora Silsila badalta rishton ka

4.अभिनव शुक्ला Abhinav Shukla

Abhinav shukla aditi sharma Silsila badalta rishton ka

Silsila badalte rishton ka characters किरदार

Shakti Arora शक्ति अरोड़ा कुणाल जो मौली का पति है वो बच्चो का डॉक्टर भी है जो अपने काम से बोहोत प्यार करता है और अपना एक क्लिनिक भी खोलना चाहता है।

 

अदिति शर्मा Aditi sharma मौली मल्होत्रा कुणाल की पत्नी जो औरतों को डॉक्टर है वो अपनी बचपन की दोस्त और कुणाल दोनो से ही बहुत प्यार करती है लेकिन अपने काम की वजह से अपनी निजी जिंदगी में समय नहीं निकाल पाती। 

 

दृष्टि धामी Drishti dhaami नंदिनी ठाकुर 

 नंदिनी एक घरेलू हिंसा का शिकार महिला है जो अपने पति के स्वभाव से तंग आ चुकी है पर फिर भी वो कोशिश करती है की वो सुधर जाए।

 

अभिनव शुक्ला Abinav shukla , Nandni का पति जो एक व्यापारी है जो अपनी पत्नी को मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करता है और कई बार वो बाहर के लोगो के सामने भी ये सब दिखाता है।

 

Silsila badalte rishton ka session 1

Silsila badalta rishton ka session 1 ये कहानी है बचपन के दो दोस्त नंदिनी और मौली के बारे में। जो एक दूसरे से बिछड़ने के सात साल बाद फिर से मिलते हैं। मौली Moni की कुणाल से 3 साल पहले ही शादी हो जाती है। दोनो ही एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और एक दूसरे के मामले में मदद भी करते हैं।

वहीं दूसरी ओर नंदिनी की शादी राजदीप से होती है जो उसे शारीरिक और मानसिक रूप से परेशान करता है ।

एक बार राजदीप को पता चलता है की वो बाप बनने वाला है लेकिन उसको कोई बच्चा नहीं चाहिए होता वो नंदिनी को बहुत मारता है और बीच सड़क पर छोड़ कर चला जाता है। वहीं कुणाल उसे देखता है और हॉस्पिटल ले जाता है वहां मौली उसका इलाज करती है पर दुर्भाग्यवश उसके बच्चे को बचा नही पाती।

जब नंदिनी को होश आता है तो वो मौली और कुणाल को राजदीप के बारे में सब कुछ बताती है। वो दोनो उसे अपने घर ले जाते हैं और उसे राजदीप के खिलाफ पुलिस कंप्लेंट करने की सलाह देते हैं ।

जिसके बाद पुलिस राजदीप को घरेलू हिंसा के मामले में गिरफ्तार कर लेती है। 

कुछ दिनो बाद कुणाल को ये एहसास होता है की वो नंदिनी से प्यार करने लगा है। वो अपने आप को याद दिलाता है वो उसकी बीवी है कुणाल को नंदिनी से बार बार न मिलना पड़े इसलिए वो मौली को मनाता है ताकि वो नंदिनी को अपने घर में ही रख ले। 

लेकिन नंदिनी को लगता है की वो कुणाल और मौली की शादीशुदा जिंदगी में दखल दे रही है इसलिए वो वहां से जाने का फैसला कर लेती है। उधर राजदीप जब जेल से बाहर आता है तो nandini से बदला लेने की सोचता है और नंदिनी के पास जाकर सुधरने का नाटक करता है नंदिनी उसकी बातो में आकर उसे दूसरा मौका दे देती है लेकिन जल्द ही उसे पता चल जाता है की वो नाटक कर रहा है और वो राजदीप को तलाक देने का सोचती है पर वो मना कर देता है।

दूसरी ओर कुणाल और मौली मंदिर जाते है वही नंदिनी भी जाती है और उसे ये एहसास होता है की वो भी कुणाल से प्यार करती है। पर वो दोनो वापस आने के बाद इसे छुपाने का फैसला करते हैं ।

फिर नंदिनी फैसला ले लेती है कि वो ये शहर छोड़ कर चली जायेगी। जब कुणाल को पता चलता है तो वो नंदनी से मिलने बस स्टैंड पर आता है और वहां वो दोनो एक दूसरे से प्यार का इकरार करते हैं अब वो दोनों मौली से छुप कर मिलने लगे।

जब मौली को पता चलता है की कुणाल उससे नही बल्कि नंदिनी से प्यार करता है तो वो उसे तलाक देने का फैसला करती है कोर्ट उन दोनो के रिश्ते को बचाने के लिए एक महीने का समय देती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.