वो एक भयानक रात जब मैं अकेला था horror story in hindi

Spread the love

Indian horror haunted story kahani in hindi real stories in hindi

Horror story in hindi दोस्तो मैं उस रात को कभी नहीं भूल सकता उस खौफनाक रात में जो मैने महसूस और जो मैने देखा उसके बाद शायद ही कोई जिंदा बचता लेकिन मेरे अल्लाह की वजह से में बच गया अगर मैं उस दिन को अपना दूसरा जन्मदिन भी कहूं तो कुछ गलत नही होगा।यह बात है शिमला की जहा मैं अक्सर घूमने जाया करता था और इस बार भी मैं वही जाने रहा था अपनी कार में बैठे मैं वह के सुहावने मौसम और हसीन वादियों के सपने देख रहा था रास्ता काफी लंबा था तो मैं बस अपनी कार चलाता ही जा रहा था अल्मोड़ा आते ही तेज बारिश होना शुरू हो गई मैने अपनी कार की स्पीड कम कर ली क्योंकि बारिश में उस रास्ते तेज कार चलाना अपनी मौत को दावत देना था अब मेरी कार 60 km की स्पीड से चल रही थी बारिश तेज होने के कारण सामने का रास्ता कुछ ठीक दिखाई नही पड़ रहा था कुछ दूर चलने के बाद भी जब बारिश नही रुकी तो मैंने निर्णय किया की क्यों ना मैं अपनी कार यही रोक कर बारिश के रुकने इंतजार करु मैने अपनी कार साइड में रोकी और उसमे ही आराम करने लगा बारिश का मौसम होने के कारण मुझे नींद आ गई और मैं वही सो गया 

अचानक एक आवाज से मेरी आंख खुली मैने देखा की विंडो पर एक औरत अपने बच्चे k साथ खड़ी है और एकटक मुझे ही देख रही है उस औरत ने सफेद रंग की साड़ी पहन रखी थी आंखो के नीचे काले घेरे पड़ चुके थे हाथ में एक कटोरा लिए वो मुझे ही देखे जा रही थी उस तेज  बारिश में वो और उसका बच्चा भीग रहे थे मुझे लगा की शायद इनको भूख लगी है मैने अपने वॉयलेट से कुछ पैसे निकाले और उस कटोरे में डाल दिए वो औरत वहा से बिना कुछ कहे वहा से चली गई ।

रियल लाइफ हॉरर स्टोरी इन हिंदी bhootiya horror story in hindi

मैं अपनी कार से नीचे उतरा और उस औरत का पीछा करने लगा मैंने देखा की उसने एक दुकान से कुछ खाने केलिए लिया और एक कोने में जा कर खाने लगी मुझे वो थोड़ा अजीब लगा मैं उस औरत के पास गया और बोला ‘ तुम्हारा कोई घर नही है ? और ये तुम अपने बच्चे के साथ इतनी बारिश में  यहां क्या कर रही हो ?”औरत ने मेरी तरफ एक अजीब सी निगाह करते हुए कहा “नही मेरा कोई घर नही हैं में यहीं सड़क के किनारे रहती हूं।

मैने उससे कहा की अच्छा ठीक है ।

उस औरत ने फिर मुझसे पूछा साहब क्या आपकी गाड़ी खराब हो गई है ?

मैने कहा नही इतनी तेज बारिश में आगे जाने से अच्छा मैने यही रुकने का फैसला किया है औरत ने पूछा की साहब आपको कहां जाना है मुझे बताइए मैने कहा मुझे शिमला जाना है लेकिन ये बारिश_ _ _?

horror kahani hindi

उस औरत ने कहा की साहब आप एक कच्चे रास्ते से जा सकते हो जो सीधा शिमला की तरफ जाता है मैने हैरानी से पूछा तुम्हे कैसे पता ??

औरत ने कहा की मैं यह कई सालो से रह रही हूं इसीलिए मुझे यह के सारे रास्ते पता है आप मेरी बात मानिए उसी कच्चे रास्ते से चले जाइए ।

मैने उस पर भरोसा कर लिया ये सोच कर की शायद इसे यहां के रास्ते पता हैं मैं अपनी कार में बैठा और कच्चे रास्ते की तरफ चलने लगा मैने ये रास्ता पहली बार देखा था क्योंकि जब भी मैं यहां आया था सड़क से ही गया था मैं धीरे धीरे आगे बढ़ने लगा रास्ते के बीचों बीच आकर मेरी कार अचानक रुक गई उस सुनसान रास्ते में मेरे अलावा और कोई दिख नही रहा था और उपर से गाड़ी भी खराब हो गई मैने सोचा की कही मैं गलत रास्ते तो नही आ गया इतना सोच ही रहा था की तभी  मैने देखा की अंधेरे में दूर एक साया खड़ा है मुझे लगा की शायद मेरे अलावा कोई और भी यहां फस गया हैं। और वो साया धीरे धीरे मेरी तरफ आने लगा लेकिन जब मैने उसे देखा तो मेरे पसीने छूट गए मैने देखा की ये तो वही औरत है जिसने मुझे ये रास्ता बताया था लेकिन वो मुझसे पहले यहां कैसे पहुंच सकती है में उसे देख कर बोहोत डर गया वो औरत मेरे बोहोत करीब आ चुकी थी और एक अजीब सी निगाहों से मुझे देखते हुए बोली साहब क्या हुआ ? 

गाड़ी खराब हो गई क्या ??

मैने कहा नही नही ऐसा कुछ नही है तुम यहां मुझसे पहले कैसे आ गई ?

उस औरत ने हस्ते हुए कहा मैने कहा था ना साहब मैं यही रहती हूं और मुझे यहां के सारे रास्ते पता है में कही भी आ जा सकती hu इतना बोलते ही वो औरत गायब हो गई 

अब तो मेरे हाथ पैर कांपने लग गए मैने जल्दी से अपनी कार ठीक करने की कोशिश की और उसमे बैठ गया अल्लाह का शुक्र मान कर मैने कार कार स्टार्ट की और चलने लगा कुछ हीं दूरी पर चलने के बाद मेरे होश उड़ गए मैने अपने फ्रंट मिरर में बैक सीट पर उसी औरत को देखा गाड़ी रोक कर जैसे ही मैने पीछे देखा वहा कोई नहीं था

मुझे लगा शायद ये मेरा वहम है horror story in hindi

और फिर से अपने रास्ते चल दिया लेकिन इस बार तो वो औरत मेरे साइड वाली सीट पर ही आ गई और मुझे देख कर जोर जोर से हंसने लगी उसने मुझपे अचानक हमला कर किया। लेकिन वो चिल्ला कर पीछे हट गई मुझे समझ नहीं आया की ये क्या हुआ फिर मुझे ध्यान आया की मेरे गले में अल्लाह का तावीज है जो शायद मेरी रक्षा कर रहा है उस औरत ने फिर मूझपे हमला किया और फिर से वो पीछे की और हट गई मैं समझ गया की इसी तावीज से इसका अंत हो सकता है मैने जल्दी से अपना तावीज निकाला और उस औरत के गले में डाल दिया वो तड़पने लगी चिल्लाने लगी और अचानक एकदम गायब हो गई मैने बिना कोई सोच विचार किए जल्दी से अपनी गाड़ी स्टार्ट की और वापस रोड की तरफ आ गया तब तक बारिश भी थम चुकी थी मैन रोड पर आने के बाद मुझे एक बाबा दिखाई दिए जिनकी उम्र लगभग 60वर्ष की होगी जब उनको मैने ये सब बताया तो उन्होंने कहा की किस्मत वाले हो बेटा तुम जो बच गए वरना उस कच्चे रास्ते पर जो भी गया है मरा ही है मैने पूछा बाबा कौन है वो औरत उन्होंने बताया बेटा कई साल पहले उसी रास्ते पर उस औरत का एक्सीडेंट हो गया था तभी से वो हर गाड़ी वाले को मार देती है तुम्हारा नसीब अच्छा था जो तुम बच गए ।बाबा इतना कह कर वहा से चले गए अब  मेरी शिमला जाने की हिम्मत नही थी इसीलिए मैं वापस अपने घर की ओर निकल गया घर आकर मैने सब कुछ अपने घरवालों को बताया तो सबने अल्लाह का शुक्रियादा किया 

लेकिन फिर उसके बाद से कभी भी उस कच्चे रास्ते पर किसी और को वो औरत नही दिखाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.