जादुई चक्की magical mill अच्छी अच्छी कहानी

Spread the love

जादुई चक्की magical mill story for kids in hindi

रामपुर गांव में मदन अपने परिवार के साथ रहता था। उसके परिवार मे वो उसकी पत्नी और उसका एक बेटा था। जिसकी उम्र लगभग 16 वर्ष थी। मदन बोहोत गरीब था। बड़ी मुश्किल से उन्हें दो वक्त का खाना नसीब होता। उनके पास एक चक्की थी। जिसमे वो आटा पीस कर बेचा करते थे। एक बार की बात है। वे सब रात का खाना खा कर सो गए सुबह उठ कर देखा तो चक्की वहा नही थी। मदन की पत्नी बोली,” अजी सुनो हमारी चक्की कहा गई”! मदन ने कहा कि लगता है रात में किसी ने हमारी चक्की चुरा ली। मदन की “पत्नी बोली वो हमारा एक मात्र साधन था कमाई का अब हम अपने परिवार का पालन कैसे करेंगे क्या खाएंगे”? मदन अपनी पत्नी को आश्वाशन देते हुए बोलता है कि चिंता मत करो कुछ न कुछ काम करके गुजारा हो ही जाएगा। कुछ दिनों बाद उनका बेटा राहुल बीमार पड़ जाता है। तब मदन अपने बेटे को वैध जी के पास लेकर जाता है वैध जी कहते है की मैने अभी इसको दवा दे दी है इसे खिलाने के आपके बेटे को तबियत ठीक नही होती तो आपको इसे अस्पताल लेकर जाना होगा। मदन अपने बेटे को लेकर घर आ जाता है वैध जी की दो हुई दवाई देने के बाद भी जब राहुल की तबियत में सुधार नही आता तब वह उसे अस्पताल में भर्ती करवाने ले जाता है। अस्पताल में जाने के बाद रिसेप्शनिस्ट बोलती है की आपको एक लाख रुपए अर्जेंट डिपोजिट करने होंगे तभी आपके बेटे का इलाज शुरू हो सकता है। मदन रिसेप्शनिस्ट से विनती करते हुए कहता है की नही नही मैडम मैं बोहोत गरीब हूं मेरे पास इतने सारे पैसे नही है। बोहोत मिन्नते करने के बाद डॉक्टर वहा आते है और बोलते है की ठीक है मदन हम तुम्हारे बेटे का इलाज शुरू करते है तब तक तुम पैसे का इंतजाम कर लो। मदन वहा से चला जाता है। चलते चलते वो निराश होकर एक पेड़ के नीचे जाकर बैठ जाता है और सोचने लगता है कि, हे भगवान! इतने सारे पैसे का इंतजाम मैं कहां से करु अगर मैने पैसे जमा नही किए तो मेरा बेटा शायद बच ना पाए इतना सोच कर वो रोने लगता है तभी उसकी नज़र वहा सामने गढ़े हुए एक चमकती हुई चीज पर जाती है उसको देख कर मदन सोचता है की ये क्या चीज है इसे खोद कर देखता हूं।

छोटे बच्चों की कहानियां

उसने देखा की एक पुरानी सी चक्की है मदन सोचने लगा की ये चक्की को सड़क के बीच में किसने गाढ़ा है वो चक्की मदन अपने घर ले आता है।और अपनी पत्नी को दिखाता है उसकी पत्नी कहती है कि,”जी क्यों ना हम इसमें गेहूं डाल कर देखे क्या पता ये काम कर भी रही है की नही मदन ने चक्की में एक मुट्ठी गेहूं डाले और घुमाया तो गेहूं के दाने सोने मे बदल गए। मदन और उसकी पत्नी यह देख कर बहुत हैरान हो गए।मदन की पत्नी ने कहा ये तो जादुई चक्की है मदन ने कहा, हा सही कहा तुमने ये तो एक जादुई चक्की है मदन ने फिर एक मुट्ठी गेहूं चक्की मे डाले और उसे घुमाया तो फिर गेहूं के दाने सोने मे बदल गए। इस तरह उन्होंने उस सोने को बेच कर अपने बेटे का इलाज करवाया । मदन और उसका परिवार गांव का सबसे धनवान परिवार बन गया और अपनी पूरी जिंदगी खुशी से बिताई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.