paryayvachi shabd

paryayvachi shabd

Lets find out some paryayvachi shabd in Hindi which is very useful. चलिए कुछ paryayvachi shabd जन लेते हैं जिसे हम अपने निजी जीबन मे प्रयोग कर सके।

प्रत्येक भाषा में paryayvachi shabd मिलते हैं। paryayvachi shabdon की बहुलता भाषा को अत्यन्त समृद्ध बनाती है। वैसे तो paryayvachi shabd का धर्म समान अर्थ ही प्रदान करना होता है तथापि उनके भावों एवं प्रभावों में थोड़ा-बहुत अन्तर भी रहता है। हिन्दी के अधिकांश paryayvachi shabd संस्कृत से आए हुए हैं।

paryayvachi shabd सूची : 

1.       अग्नि – अनल, पावक, कृषानु, दहन, हुतासन, बह्नि।

2.       अन्न – अनाम, नाम, गल्ला, धान्य, शलि, वास्य, खाना।

3.       अमृत – सुधा, पीयूष, अमी, शशिरस, सोम।

4.       असुर – दैत्य, दानव, दज, राक्षस, निशाचर, रजनिचर, तमिचर।

5.       आकाश – गगन, आसमान, अम्बर, व्योम, नभ, अम्र, रव, शून्य।

6.       इद्र – मधवा, पुरन्दर, सुरपति, सहस्त्राभि, सुधन्वा, वर्षतारी, वज्रपाणि।

7.       ईश्वर – प्रभु, ईश, परमात्मा, अनन्त, अनादि, अगम, अगोचर, स्वामी, ब्रम्ह।

8.       कमल – पंकज, जलज, वारिज, सरोरुह, अम्बुज, नीरज, राजीव, पारिजात, अरविन्द, पन्द।

9.       कामदेव – मदन, मनोज, मार, मन्थन, मनसिज, मकरकेतु, मकरध्वज, अनंग, पंचसर।

10.     कृष्ण – श्याम, केशव, माधव, गोपाल, गिरधारी, मुरलीधर, मुरारी, देवकीनन्दन।

11.     गंगा – भागीरथी, जाहन्वी, मंदाकिनी, त्रिपथगामी, सुरसरिता।

12.     घर – गृह, आवास, आगार, निलय, गेह।

13.     सूर्य – रवि, दिनकर, प्रभाकर, मिथ, दिनेश, भानु, अर्क, मारतंड, आदित्य।

14.     चद्रमा – शशि, चद्र, इन्दु, सुधाकर, हिमांशु, दिवाकर, नभपति, रजनीपति, कलानिधि, मयंक, शशांक, मृगांग, हिमराज।

15.     जल – नीर, सलिल, वारि, तोय, पय, अम्बु, जीवन।

16.     समुद्र – सिंधु, सागर, जलधि, पयोधि, जलनिधि, रत्नाकर, वारिध, उदधि, वारीश, नदीश।

17.     सिंह – केसरी, हरि, मृगेद्र, मृगराज, वनपति, शार्दुल।

18.     हाथी – हस्ती, गज, द्विपकुंजर, दन्ती, वारण।

19.     पवन – वायु, अनिल, हवा, समीर।

20.     पृथ्वी – धरणी, क्षमा, वसुधा, रसा, भूमि, अचला।

21.     पुष्प – फूल, सुमन, कुसुम, गुल, पाटल, प्रसुन।

22.     विष्णु – लक्ष्मीपति, कमलापति, चक्रधर, वज्रधर।

23.     शिव – पंचमुख, रुद्र, शंकर पशुपति, भोलानाथ, त्रिपुरारी।

24.     बादल – मेघ, घनतोयद, जलद, पयोद, वारिद, नीरद।

25.     राम – रामचद्र, रघुवंशमणि, रघुनाथ, सीतापति, दशरथनंदन।

26.     नदी – सरिता, तटिनी, तरंगिनी, श्रोतस्विनी, प्रवाहिनी।

27.     नौका – तरिणी, नौ, नाव, नैया, जलयान, तरी, डोंगी।

28.     वाण – शर, तीर, अनी, विशिरक, सिलीमुख, नाराच।

29.     तालाब – ताल, सर, पुष्कर, जलाशय, तड़ाग।

30.     रश्मि – कर, किरण, प्रभा, मरीचि, मयूरव।

31.     तरंग – उर्मि, लहर, वीचि।

32.     पति – स्वामी, ईश, नाथ, धव, सैभाग, भर्ता।

33.     स्त्री – नारी, महिला, तिय, दारा, अवला, कामिनी, वनिता, कान्ता, प्रमदा, तन्वी।

34.     रात्रि – रजनी, दोशी, निशा, कादम्बरी, निषाथ।

35.     सेना – वाहिनी, दल, फौज, चभू, कटक।

36.     दिन – दिवस, अह्न, वासर, दिवा।

37.     अश्व – घोड़ा, तुरंग, हय, वाजि, तीव्रगामी।

38.     सर्प – सांप, नाग, वासुकि, विषधर, अहि।

39.     पर्वत – पहाड़, अचल, गिरि, भूधर, नग।

40.     पक्षी – विहंग, खग, अंडज, पतंग, द्विज।

41.     भ्रमर – भौंरा, द्विरेफ, षड़पद, मधुकर, अलि, भृंग।

42.     गुरु – उपाध्याय, अध्यापक, आचार्य, मास्टर।

43.     पत्नी – वधू, अर्धाङिनी, सुभगा, कान्ता, वामंगी, भार्या।

44.     लक्ष्मी – कमला, पद्भमा, चंचला, विष्णुप्रिया, श्री, इन्दिरा।

45.     सरस्वती – विद्या, पद्भमासना, वाणी, भारती, गिरा, इला।

46.     उमा – गिरिजा, अपर्णा, गौरी, भवानी, सती।

47.     गणेश – लम्बोदर, विनायक, एकदंती, गजानन, वक्रतुंड।

48.     बानर – कपि, बन्दर, शाखामृग, मर्कट।

49.     हाथ – हस्त, पाणि, कर।

50.     स्वर्ण – सोना, हाटक, कंचन, कनक, हेम, जातरुप।

51.     समूह – समुदाय, निकर, वृन्द, गण, पुन्ज, झुण्ड, राशि।

52.     यम – सूर्यपुत्र, अन्तक, धर्मराज, कृतांत, दण्डदेव।

53.     राजा – नृप, भूप, भूपति, नरेश, महीपति।

54.     ब्राम्हण – भूदेव, विप्र, सर्मन।

55.     बिजली – विद्युत, चंचला, सौदामिनी, तड़ित।

56.     बाल – कच, केश, चिकुर, शिरोरुह, अलक।

57.     देह – कलेवर, तन, वपु, शरीर, विग्रह, गाम, तु।

58.     अदभुत – अद्वितीय, अनुरुप, अनूठा, अपूर्व।

59.     अरण्य – जंगल, कानन, वन, विपिन।

60.     नयन – ऑख, अक्षि, नैन, चक्षु, नेत्र, लोचन, दृग।

61.     आकाश – व्योम, द्यौ, गगन, नभ, अम्बर, शून्य।

62.     आम – रसाल, आम्र, प्रियम्वु, अमृत, फल, सहकर।

63.     इच्छा – आकांक्षा, इप्सा, चाह, लिप्सा, ईहा।

64.     इद्र – सुरपति, सुरेद्र, मधवा, शक्र, पुरन्दर, देवगर।

65.     कपड़ा – वस्त्र, कार्पट, चिर, अम्बर, वसन, पट।

66.     चतुर – कुशल, निपुड़, प्रवीण, पटु, नागर, होशियार।

67.     चांदनी – चद्रिका, कौमुदी, ज्योत्सना।

68.     चाँदी – रजत, कलधौत, जातरुप, रुण।

69.     यमुना – जमुना, अर्कजा, सूर्यतनभि, कालिन्दी।

70.     तलवार – असि, खड्ग, कृपाड़, चद्रहास।

71.     दास – सेवक, किंकर, नौकर, भृत्य, अनुचर।

72.     देवता – अमर, सुरदेव, निर्जर, विवुद्ध, गरिराज।

73.     द्रव्य – धन, दौलत, सम्पति, विभूति, सम्पदा, ऐश्वर्य।

74.     पुत्र -सुत, पुत, तनय, बेटा, आत्मज, नन्द।

75.     पुत्री – सुता, तनया, बेटी, आत्मजा, दुहिता, तनुजा।

76.     ब्रह्मा – सवयंभू, चतुरानन, विधि, श्रष्टा, प्रजापति।

77.     हनुमान – पवनसुत, आग्जनेय, मारुति, कपिलेश्वर, बजरंगबली।

Leave a comment